Sambhog Shakti Badhane Ke Gharelu Nuskhe

Sambhog Shakti Badhane Ke Gharelu Nuskhe

संभोग शक्ति बढ़ाने के घरेलू नुस्खे

संभोग(Sexual Intercourse)-
संभोग इच्छा बढ़ाने के योग-

यूं तो सेक्स की इच्छा सभी में, खासकर पुरूषों में तो बहुत अधिक होती है। स्त्रियों में भी संभोग की इच्छा होती है, मगर वह एक खासपल या मौके पर ही उसे जाहिर करती हैं। पुरूष तो अपनी इच्छा फौरन जाहिर कर देते हैं, किन्तु नारी अपने स्वाभाविक लज्जा स्वरूप खुलकर अपनी प्रसंग इच्छा को पुरूषों के सामने जाहिर नहीं कर पातीं। स्त्रियां बिल्कुल अकेले में, रात में, अंधेरे में तथा चांदनी में ही यौन समागम को अधिक निश्चिन्ततापूर्वक ग्रहण करती हैं। कहने का तात्पर्य यह है कि सेक्स, स्त्री और पुरूष दोनों की सबसे अहम जरूरत है और दोनों ही संभोग की इच्छा प्रबल रूप से रखते हैं। मगर वहीं आज के युग में कई ऐसे दम्पत्ति भी हैं या ऐसे स्त्री-पुरूष भी हैं, जो सेक्स से पूरी तरह विमुख हो चुके हैं। कारण चाहे जो भी हो जैसे- आपस में न बनना, पारिवारिक कलह, समय का अभाव, या फिर पर्याप्त एकांत न मिल पाना। बड़ा परिवार होने के कारण भी कई बार पति-पत्नी को महीनों हो जाते हैं संभोग किये हुए। कई बार तो ऐसा होता है कि पति की संसर्ग की इच्छा तो होती है, मगर पत्नी ठंडे स्वभाव की होती है। उसमें कामेच्छा का अभाव होता है। कहीं पर विपरित भी होता है यानी पत्नी तो आग होती है, लेकिन पति ठंडी बर्फ। पत्नी कितना ही प्रयास कर ले, अपनी अदाओं से रिझाने का प्रयत्न करें, मगर पति के अंदर कोई काम भावना जागृत नहीं होती। वह तरह-तरह के बहाने बनाने लगता है। जैसे कि आज ऑफिस  में बहुत काम था, बुरी तरह थक गया हूं, आज नहीं बाॅस की वजह से मूड खराब है, या फिर कल ही तो किया था, रोज-रोज नहीं इत्यादि। परिणाम स्वरूप धीरे-धीरे स्त्री-पुरूष की सेक्स इच्छा ही समाप्त हो जाती है। उन्हें लगता है कि जैसे अब संभोग की उनकी जिंदगी में कोई जगह नहीं है। वो कामरहित जिंदगी को ही अपना भाग्य मान लेते हैं।

sambhog.co.in
जिस प्रकार भोजन जीने के लिए जरूरी है, ठीक उसी प्रकार सेक्स भी जीवन का एक अभिन्न हिस्सा है। इससे स्त्री और पुरूष अलग नहीं हो सकते। अच्छी सेक्स लाईफ पति-पत्नी के रिश्तें में मधुरता तो बनाये रखती ही है, साथ ही स्वास्थ्य के लिए भी इसे उपयुक्त माना गया है। अतः सेक्स लाईफ में भी संतुलन बनाये रखने की अति आवश्यकता होती है। नीचे संभोग की इच्छा बढ़ाने के लिए कुछ देसी उपाय बताये जा रहे हैं…

आप यह हिंदी लेख sambhog.co.in पर पढ़ रहे हैं..

प्रसंग इच्छा बढ़ाने के योग-

1. मैथुनेच्छा को जबरदस्ती रोकना भी एक प्रकार का अपराध है।
घी 5 ग्राम, प्याज का रस 6 ग्राम, शहद 3 ग्राम। इनको मिलाकर सुबह-शाम पीयें तथा सोते समय शतावर चूर्ण 5 ग्राम में 20 ग्राम मिश्री डालकर उबाले हुए दूध के साथ पीयें। 4 मास में स्त्री प्रसंग की इच्छा खूब बढ़ जायेगी।

2. शीत ऋतु में रात्रि को सोते समय दूध में छुहारे उबाल कर खाने तथा उबले दूध को मीठा करके छुआरे खाकर ऊपर से पीने से शरीर में वीर्य अधिक बनता है, संभोग की इच्छा बलवती होती है तथा वीर्य गाढ़ा बनता है।

3. पुराने सेमल की मूसली सुखाई हुई बारीक पीसकर रख लें। 5 ग्राम लेकर इतनी ही चीनी मिलाकर पाव भर दूध के साथ फाँक लिया करें। 40 दिन तक इसका प्रयोग करने से वीर्य गाढ़ा होता है एवं प्रसंग इच्छा में वृद्धि होती है।

4. मुलेहठी कूट एवं कपड़छान करके रख लें। इसमें मधु 5 ग्राम, गाय का घी 10 ग्राम मिलाकर चाटें तथा मिश्री मिश्रित गाय का दूध पीयें। इस योग का निरंतर एक महीने तक प्रयोग करने से स्त्री प्रसंग की इच्छा निश्चय ही बढ़ जाती है एवं आनंद भी अत्यधिक आता है।

5. आधा सेर दूध में एक तोला शतावर पीसकर उबालें। जब डेढ़ पाव रह जाये, तब उसमें मिश्री मिलाकर पीयें। इस दूध के सेवन से प्रसंग इच्छा में वृद्धि होती है तथा शिश्नेन्द्रिय में शिथिलता नहीं आती है। इस दूध का 40 दिन तक नियमित प्रयोग करना चाहिए।

sambhog.co.in

यह भी पढ़ें- ल्यूकोरिया

6. सोंठ, शंकाकुल मिश्री, कुलीजंन, अन्जरा के बीज, गाजर के बीज, जरजीर के बीज, हिंलमून के बीज। इन सातों चीजों का समान मात्रा में चूर्ण लें। अब शहद तथा सफेद प्याज के स्वरस में इन दोनों को समभाग मिलाकर, कलईदार बर्तन में भरकर इतना ओटायें कि प्याज का रस जलकर शहद मात्र रह जाये। फिर उसमें पूर्वोक्त पिसा-छना चूर्ण मिला दें तथा मर्तबान में भरकर रखें। इसे अपनी शक्ति अनुसार प्रयोग करें। इससे स्त्री-समागम की इच्छा में अत्यधिक वृद्धि होती है। जिन लोगों की कामेच्छा बिल्कुल मर चुकी हो, उनकी रग-रग में भी जोश भर देता है।

7. बिदारीकन्द का चूर्ण, घी, दूध तथा गूलर के रस के साथ पीने से वृद्ध व्यक्ति युवा हो जाता है। पहले बिदारीकन्द को कूट-छान लें। दो तोला चूर्ण गूलर के स्वरस में मिलाकर चाट लें तथा ऊपर से दूध में घी मिलाकर पीयें। यह योग कामोत्तेजना में अत्यधिक वृद्धि करता है।

8. स्त्रियों में भंगाकुर तथा स्तन युगल ही सर्वाधिक अनुभूति शील अंग है। इन दोनों अंगों से कुछ देर खेलने मात्र से ही स्त्री कामोत्तेजना हिलोरे मारने लगती है।

Sambhog Shakti Badhane Ke Gharelu Nuskhe

9. 2 ग्राम हींग तथा 6 भुने हुए अण्डों की जर्दी। इन दोनों को मिलाकर खाने से प्रसंग इच्छा में वृद्धि होती है। हृदय रोगी प्रयोग न करें।

10. शतावरी तथा असगन्धक चूर्ण प्रत्येक 3 ग्राम। दोनों को मधु के साथ मिलाकर प्रतिदिन दिन में दो बार गर्म दूध के साथ सेवन करने से कामवासना खूब बढ़ती है।

11. सामान्यतः गर्भाशय के निकल जाने के बाद स्त्रियों की कार्य संबंधी उत्तेजना पूर्व की तुलना में कम हो जाती है, लेकिन यह कमी भंगाकुर द्वारा उत्तेजना प्रदान करके दूर की जा सकती है।

12. इस योग के प्रयोग से संभोग इच्छा प्रबल होती है। कामशक्ति में वृद्धि होती है तथा वृद्ध भी युवा सदृश हो जाता है। वीर्यप्रमेह, शीघ्रपतन, स्वप्नदोष तथा शारीरिक दुर्बलता दूर हो जाती है। समुद्र फल, गोखरू, जायफल, जावित्री, अतिबला, नागबला, शुद्ध गन्धक, शुद्ध पाश, शुद्ध धतूरे के बीज, भांग के बीज, शतावर, बिदारीकन्द, काफूर बिधारा के बीज प्रत्येक 6 ग्राम, कृष्ण अभ्रक भस्म 25 ग्राम।
निर्माणविधि- सर्वप्रथम पारे व गन्धक को कई घण्टे तक खरल करके कज्जली बना लें अर्थात् इनको मिलाकर खरल में अच्छी तरह घोंटे। जब पारा चमकहीन हो जाये तो समझ लें कि कज्जली तैयार है।
फिर प्रत्येक औषधि को अलग-अलग कूट-छानकर चूर्ण बना लें। तत्पश्चात् सबको मिलाकर पान के रस में आठ घण्टे तक निरंतर खरल करके 250 मि.ग्रा. की गोलियां बना लें।
आरम्भ में एक-एक गोली सुबह-शाम मलाई के साथ खायें। तत्पश्चात् आवश्यकतानुसार दो-दो गोलियां तक ली जा सकती हैं।

सेक्स समस्या से संबंधित अन्य जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें..http://chetanonline.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *