Sambhog Ke Samay Purush Karte Hain Ye 9 Galtiyan संभोग के समय पुरूष करते हैं ये 9 गलतियाँ

Sambhog Ke Samay Purush Karte Hain Ye 9 Galtiyan संभोग के समय पुरूष करते हैं ये 9 गलतियाँ

Sambhog Ke Samay Purush Karte Hain Ye 9 Galtiyan

संभोग में ध्यान रखें पुरूष-

अधिकत पुरूषों में आदत होती है कि वे अपनी पार्टनर को अपने सेक्सुअल एक्टिविटी के बारे में कुछ ज्यादा ही बढ़ा-चढ़ा कर बताते हैं। जबकि हकीकत तो यह होती है कि वे अपनी महिला साथी की चाहत से बिल्कुल अनजान होते हैं। वे इस बात से पूरी तरह बेखबर होते हैं कि आखिर उनकी पार्टनर के मन में सेक्स के लिए किस प्रकार की फिलिंग है या फिलिंग है भी या नहीं। उन्हें आनंद आ रहा है या नहीं आ रहा है और अगर आ रहा है तो कितनी मात्रा में आ रहा है। ऐसी ही कई बाते हैं, जिनका पुरूषों को संभोग काल में ध्यान नहीं होता।
एक शोध के मुताबिक ज्यादातर पुरूष उतने प्रभावशाली प्रेमी यानी लवर नहीं होते, जितना वो स्वयं को समझते हैं। सम्भोग की बुनियादी जानकारी की बात करें, तो अक्सर पुरूष यहां भी अनजान होते हैं और कई गंभीर गलतियाँ करते हैं।
आइए जानते हैं सेक्स के समय पुरुष द्वारा की जाने वाली 10 आम गलतियों के बारे में, जिससे आप अपनी सेक्सुअल लाइफ में सावधान रह सकते हैं।

1. संभोग काल में चुप्पी:
कई पुरूषों की आदत होती है वे केवल शांत होकर सेक्स करना पसंद करते हैं। यानी सेक्स के समय केवल चुप रहते हैं और मैथुन क्रिया में मग्न रहते हैं। ऐसा करने के पीछे पुरूषों की सोच होती है कि इससे उनकी पार्टनर को ज्यादा आनंद आयेगा, क्योंकि वो पूरा ध्यान सेक्स में लगा पायेगी, जबकि ऐसा सोचना बिल्कुल गलत है। बल्कि आपकी चुप्पी स्त्री के लिए बोरियत साबित हो सकती है। हमारा मत यह नहीं है कि आप सेक्स के दौरान बकर-बकर करते रहें, फिजून बतियाते रहें, मगर उस पल में मिल रहे आनंद को अपनी फिलिंग को तो अपनी पार्टनर के साथ शेयर कर ही सकते हैं। या फिर अपनी पार्टनर की फिलिंग को भी जान सकते हैं उनसे पूछ कर कि उन्हें आनंद आ रहा है या नहीं।

इसे भी पढ़ें.. स्वप्नदोष

2. फोरप्ले में हड़बड़ी दिखाना:
यहां यह बात विशेष ध्यान देने योग्य है कि मैथुन के दौरान फोरप्ले ही स्त्रियों को सबसे अधिक यौनिक सुख प्रदान करता है। मगर कई पुरुष इसको हल्के में ले लेते हैं और शीघ्र-अति-शीघ्र इसको औपचारिकता समझ कर निपटाने की कोशिश करते हैं। अपनी महिला साथी के संवेदनशील अंगों को चूमना, उन्हें छूना, आलिंगनबद्ध होना। इसी प्रकार की कई सेक्सुअल एक्टिविटी फोरप्ले में करके पुरूष अपनी पार्टनर को दोगुना आनंद प्रदान कर सकते हैं। अधिकत सेक्स विशेषज्ञों को तो यह भी मानना है कि जिन कपल्स में फोरप्ले जितना अधिक होता है, उनमें एक-दूसरे के लिए प्यार भी उतना ही गहरा होता है।

आप यह आर्टिकल sambhog.co.in पर पढ़ रहे हैं..

3. चरम में जल्दबाजी न करें:
अधिकतर पुरूष, आरम्भिक मैथुन में ही अपनी महिला साथी को खुश करने के लिए, उन्हें अधिक आनंद पहुंचाने के उद्देश्य में अपने पार्टनर के जननांग को तेजी से रगड़ने लगते हैं, ताकि वह स्खलित हो जाए। अगर आपका पार्टनर शुरुआत में ही स्खलित हो जाये, तो दैहिक संबंध का पूरा आनंद ही बेकार हो जाता है। पुरूषों को चाहिए कि पहले चुम्बन से शुरुआत करें, फिर फोरप्ले, फिर मैथुन और फिर आखिर में चरम को लक्ष्य बनायें।

इसे भी पढ़ें.. शीघ्रपतन

4. ओरल सेक्स बहुत कम करें:
ओरल सेक्स पुरूषों को अपनी ओर सबसे ज्यादा आकर्षित करता है। मगर कोशिश यही रहनी चाहिए ओरल सेक्स जितना हो सके, बहुत कम करें। एक शोध के अनुसार कई स्त्रियां बहुत ज्यादा ओरल सेक्स में खुद को असहज महसूस करती हैं।

5. उंगलियों का सही इस्तेमाल करें:
मैथुन के समय कई पुरूष उंगलियों का बहुत इस्तेमाल करते हैं। ऐसा करने में उन्हें आनंद प्राप्त होता है और उनकी महिला साथी इस क्रिया से बहुत उत्तेजना और आनंद महसूस करती हैं। मगर उंगलियों का इस्तेमाल करते समय किसी भी प्रकार की हड़बड़ी और जल्दबाजी न करें और धीरे-धीरे आगे बढ़ें।

sambhog.co.in

6. अपनी पार्टनर को प्रेम का कोमल अहसास भी कराएं:
कुछ पुरूषों की मानसिकता ऐसी होती है कि उन्हें मैथुन में आक्रामक व कठोर रैव्वया ज्यादा पसंद होता है। वह सेक्स रिलेशन के समय अपनी पार्टनर के साथ पूरे जोश और कठोरपन से पेश आते हैं। उस समय पुरूष अपनी पार्टनर की सेक्सुअल फिलिंग की ओर कोई ध्यान नहीं देते। शायद ऐसे पुरूषों को लगता है कि सेक्स में उनका कठोरपन उनकी पार्टनर को अधिक आनंद देता है। मगर अधिकतर स्त्रियां सेक्स रिलेशन के खास पलों में अपने पुरूष साथी का रोमांटिक स्वभाव अधिक पसंद करती हैं, इसलिए इस बारे में अपने पार्टनर से बात करके ही आगे बढ़ें।

इसे भी पढ़ें.. हस्तमैथुन

7. Clitoris पर भी ध्यान दें:
महिलाओं की योनी में उपस्थित Clitoris एक बहुत संवेदनशील अंग होता है, जिसे सहलाने से स्त्रियों को बेहद उत्तेजना का अहसास होता है, इसलिए इसे अनदेखा करने की भूल न करें। इसे धीरे-धीरे सहलाते हुए अपने पार्टनर की उत्तेजना में वृद्धि करें।

8. बाॅडी के अन्य पार्ट्स का भी ख्याल रखें:
दैहिक संबंध की शुरुआत करते समय महिला के संवेदनशील अंगो जैसे स्तन, पेट, गर्दन आदि का भी ध्यान रखें। इन अंगों को दैहिक संबंध में शामिल करने से आप अपने पार्टनर के आनंद को कई ऊंचाई तक ले जा सकते हैं, इसलिए इन अंगों को नजरअंदाज न करें।

9. जी-स्पाॅट की चिंता न करें:
दैहिक संबंध काल में ज्यादातर पुरूष G-Sopt को ही ज्यादा महत्व देने की कोशिश में लगे रहते हैं। लेकिन G-Spot के अतिरिक्त भी शरीर के कई संवेदनशील अंग जैसे Clitoris, स्तन, पेट, गर्दन आदि भी होते हैं, जिन्हें उत्तेजित करके भी आप अपने पार्टनर को पूरा आनंद प्रदान कर सकते हैं।

सेक्स से संबंधित अन्य जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.. http://chetanonline.com/

Sambhog Ke Samay Purush Karte Hain Ye 9 Galtiyan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *