Patni Ko Mast Karne Ka Tarika

Patni Ko Mast Karne Ka Tarika

पत्नी को मस्त करने का तरीका

संभोग(Sexual Intercourse)

patni ko santust karne ke upay, Patni Ko Mast Karne Ka Tarika, aurat ko kaise khush kare 

संभोग में स्त्री और पुरूष दोनों को कामवासना रूपी ‘भोग’ का समान आनंद प्राप्त हो, वो ही वास्तव में ‘संभोग’ है। सम+भोग = सम्भोग, यानी समान रूप से भोगे जाने वाला भोग ही संभोग की परिभाषा है। विस्तार पूर्वक समझाया जाये तो जब भी स्त्री और पुरूष संभोग करे, तो दोनों को इस बात का पूरा ख्याल रखना चाहिए कि दोनों ही इसमें चरम तक पहुंचे और तृप्ति प्राप्त करें। संभोग में जो भी क्रियाकलाप हों, उसमें दोनों को समान आनंद आना चाहिए। ऐसा न हो कि रतिक्रिया के दौरान पुरूष तो आनंदित हो रहा हो, किन्तु स्त्री को कोई आनंद प्राप्त नहीं हो रहा हो। या फिर स्त्री तो अपनी मनमानी चला रही हो और बेचारा पुरूष, केवल स्त्री की संतुष्टि के लिए बेमन से सबकुछ कर रहा हो।
कुल मिलाकर कहने का अभिप्राय है कि जब भी सेक्स यानी संभोग किया जाये तो एक-दूसरे की इच्छा और तृप्ति का पूरा ध्यान रखना चाहिए।
कई स्त्रियों व पत्नियों को शिकायत करती हैं कि मेरे ‘ये’(पतिदेव) तो बस अपनी भड़ास निकालकर सो जाते हैं। हमारी भावनाओं की कोई कद्र नहीं करते। हम तो अतृप्त ही रह जाती हैं। या फिर पति के साथ उन्हें पूर्ण आनंद नहीं आ पाता। ऐसा नहीं है कि हर पुरूष ऐसा करते हैं। कई पुरूष भी शिकायत करते हैं कि हम तो अपनी ओर से पूरी कोशिश करते हैं कि पत्नी को पूरा आनंद दें और तृप्त करें। मगर पता नहीं क्यों हर बार अथक प्रयास करने के बाद भी पत्नी से पूर्व हम ही स्खलित हो जाते हैं। या फिर हो सकता है पत्नी की कामशक्ति ही अधिक हो।

आप यह हिंदी लेख sambhog.co.in पर पढ़ रहे हैं..

यहां स्त्रियों को संभोग में मस्त करने देने वाले योग बताये जा रहे हैं..

Patni Ko Mast Karne Ka Tarika

1. गाय का घी 20 ग्राम, बीरबहूटी 3 ग्राम, इत्र गुलाब 6 ग्राम, टिंक्चर ऑफ सिनेमन(दालचीनी का विलायती टिंक्चर) 15 बूँदें। गाय के घी में बीरबहूटी डालकर धीमी आंच पर रखें। जब बीरबहूटी जल जाये और खूब लाल हो जाये तो उतार लें। फिर इत्र गुलाब तथा टिंक्चर ऑफ सिनेमन सम्मिलित करके शीशी में रख लें। समय से पूर्व कुछ बूँदें तिला की भाँति प्रयोग करके कुछ देर बाद संभोगतर हों। स्त्री खुश हो जायेगी और शीघ्र चरम पर पहुंच कर स्खलित हो जायेगी।

2. दालचीनी 1 भाग, केसर 1 भाग, पारा 2 भाग। इन सबको महीन पीस लें। आवश्यकता के समय थोड़ी दवा पानी में घिसकर लिंग पर लगायें। शुष्क हो जाने पर संभोग करें।

3. कौंच के बीज तथा तालमखाना बराबर वज़न में कूटकर छान लें। 3 ग्राम दूध के साथ निरंतर एक मास तक प्रयोग करें। इसके बाद स्त्री से संभोग करें तो शीघ्रपतन की शिकायत नहीं होगी।

4. सुहागा बारीक किया हुआ 2 ग्राम, शहद 10 ग्राम। दोनों को मिलाकर 1 शीशी में रख लें। आवश्यकता के समय सुपारी को छोड़कर लिंग पर थोड़ा लेप करें। स्त्री को आनंद प्रदान करेगा, साथ स्त्री परम आनंद को प्राप्त करती हुई शीघ्र स्खलित भी हो जायेगी।

5. सुहागा एक भाग, काफूर एक भाग, शहद 6 भाग। सबको मिलाकर रख लें। सुपारी को छोड़कर शेष लिंग पर मलें। स्त्री शीघ्र स्खलित हो जाती है तथा आनंद से बेहोश-सी हो जाती है।

यह भी पढ़ें- स्वप्नदोष

6. यदि स्त्री को मस्त करने की इच्छा हो तो बीरबहूटी 1 भाग लेकर गाय के तीन गुणा घी में धीमी आग पर पकायें। जब बीरबहूटी जल जाये, तो उसे आग से उतार कर उसी समय गर्म-गर्म घी में केसर तथा भीमसेनी काफूर डाल दें। फिर इन सबको अच्छी तरह घोटकर साफ कपड़े से छानकर सुरक्षित रखें। थोड़ा-सा तेल सुपारी पर लगा लें।

7. ख़ालिस इत्र गुलाब 10 ग्राम, भिड़ का छत्ता 3 ग्राम, लौंग पिसी हुई 3 ग्राम बारीक करके इत्र गुलाब में घोल लें। संभोग से पंद्रह मिनट पूर्व इन्द्री पर मलें। बेहद आनंदवर्धक एवं स्त्री को मस्त करके उसे शीघ्र स्खलित कर देने वाला योग है।

8. यह योग संभोग इच्छा में वृद्धि करती, स्तम्भन बहुत लाती, इन्द्री को सख्त करती, स्नायु शक्ति बढ़ाती तथा स्त्री के हृदय में प्रेम पैदा करती है। मोती बिना छिद्र 4 ग्राम, मरजान की जड़ 4 ग्राम, अजखर के फूल 2 ग्राम, अफीम डेढ़ ग्राम, बहमन सफेद डेढ़ ग्राम, काकुन्ज 3 ग्राम, इश्कपेचा की जड़ 3 ग्राम, गोन्द कीकर 3 ग्राम, गोन्द कतीरा 2 ग्राम, शहद सबसे दोगुना मिला लें। संभोग से दो घंटा पूर्व चार ग्राम की मात्रा में गुनगुने पानी के साथ खायें।

9. ये गोलियाँ कामवासना में वृद्धि करती है तथा स्त्री और पुरूष दोनों को आनंद देती है। अकरकरह, दालचीनी एवं कबाब चीनी। सबको समान मात्रा में कूट-छानकर अदरक के रस के साथ गूंथे और चने के बराबर गोलियाँ बना लें। संभोग के समय एक गोली मुँह में रखें और उसका जो थूक बने उसे लिंग पर योनि पर मलें।

यह भी पढ़ें- सफेद पानी गिरना

10. अफीम, केसर, गोन्द, अकरकरा, सलेखा, इलायची छोटी, इलायची बड़ी प्रत्येक 1 ग्राम, अजवायन खुरासानी 2 ग्राम। कूट-छानकर गोलियाँ बना लें। आवश्यकता के समय गोली खायें।

Patni Ko Mast Karne Ka Tarika

11. यह योग लिंग को सख्त करता है, वीर्य को बढ़ाता, संभोग व उत्तेजना को बढ़ाता है तथा माँपेशियों को शक्ति देता है, स्तम्भन शक्ति लाता है गोन्द बबूल 2 ग्राम, कतीरा 2 ग्राम, अजख़र के फूल, नागरमोथा, बड़ी मांई, दालचीनी, तगर, मस्तगी प्रत्येक 2 ग्राम, काकुन्ज, इश्कपेचा की जड़ प्रत्येक 3 ग्राम, मोती बिना छिदे, मूँगे की जड़ प्रत्येक 10 ग्राम। सबको बराबर शहद के किमाम में गूंथे तथा संभोग के समय 4 ग्राम इसमें से खायें।

12. कबाबचीनी, अकरकरह, सोंठ, हींग समान मात्रा में लेकर चूर्ण बनाकर गोलियाँ बना लें। 1 गोली को मुँह में थोड़ी देर रखें। फिर वह थूक लिंग पर लगाकर जब शुष्क हो जाये, तब संभोग करें। स्त्री आपकी दीवानी हो जायेगी।

सेक्स समस्या से संबंधित अन्य जनाकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें..http://chetanclinic.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *